औरत By Pallavi Joshi “SMS”

“भारत माता ” , हमारे देश के नाम में ही माता “एक औरत” का नाम लिया जाता हैं। पर क्या इस देश में एवं दुनिया में औरत को सच में वो दर्ज़ा दिया जाता हैं ? ” बलात्कार” यह एक शब्द हैं जिससे हर औरत की रूह कांप जाती हैं। यह केवल भारत ही नही अपितु दुनिया के हर कोनो में होता हैं । भारत में एक सर्वे के मुताबित यहाँ हर 22 मिनट में एक बलात्कार होता हैं। और इसी क्रम में अमेरिका , ब्रिटैन , स्वीडन , जर्मनी , फ्रांस , कनाडा , दक्षिण अफ्रीका भी आता हैं । बल्कि दक्षिण अफ्रीका में तो इस जुर्म में पकड़े जाने पर मात्र 2 वर्ष की सज़ा सुनाई जाती हैं । आखिर क्यों ??? क्या एक मर्द औरत पर सिर्फ अपना हक समझता हैं ? भारत में जहा एक तरफ ” बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ” योजना चल रही हैं , भारत की बेटियां विभिन क्षेत्रो में हमारा नाम रोशन कर रही है , जहा देवी की पूजा होती है , वही हर एक माँ , बहन , बेटी हर 22 मिनट में योन उत्पीडन का शिकार होती हैं । शादी , भारतीय संस्कृति में शादी को औरत के लिए अपने पति की इच्छा पूरी करने का एक माध्यम बना दिया गया हैं। इस देश में बहुत लोग सिर्फ यह बोलकर चुप हो जाते हैं कि “वो उसका पति हैं” । एक तरह से कहा जाए तो “Marriage is just like a right for a husband to have sex with her even against her wish ” भारत में सन 1993 में जनरल असेंबली द्वारा ” Elemination of violence against Women Act ” पास हुआ था , परन्तु आज लगभग 2 दशक बाद भी ज्यादातर महिलाएं घरेलू हिंसा व योन उत्पीडन का शिकार होती हैं । पिंक मूवी में अमिताभ बच्चन जी का वो कथन बिल्कुल सत्य एवं वैचारिक है कि “No means No , either she is unknown , your friend , girl friend or even your wife” हमे यह सोचना चाइये की आज़ादी के 70 सालों बाद भी हम महिलाओ को समाज के इस डर से आज़ाद नही करा पाए । हमे सबको मिलकर यह शपथ लेनी होगी कि आगे से अगर कभी हम किसी महिला पर ऐसा अत्याचार होते हुए देखेंगे तो हम तुरंत आवाज़ उठाएंगे । अगर भारत देश की उन्नति चाहते हो तो सबसे पहले देश की महिलाओं को इस घिनोने दुष्कर्म से बचाओ ।

 

Read More about Pallavi Joshi “SMS”