GANGA AARTI , TRIVENI GHAT

 

त्रिवेणी घाट ऋषिकेश मे श्री गंगा सभा द्वारा आयोजित माँ गंगा की संगीतमय सांध्यकालीन आरती का दृश्य देखते ही बनता हैं। यहाँ आरती का अनुभव बहुत सुखद हैं । हिमालय की पहाड़िया व् उसके बिच से निकलती मोक्षदयानी माँ गंगा की अविरल जल धारा इस आरती एवं गंगा तट का महत्व और तट से अलग बनती है। प्राकर्तिक वातावरण मैं सांध्यकालीन आरती माहोल को आध्यात्मिक बनाने के लिए काफी होता है। और घाटो से उलट यहाँ प्राकर्तिक सौंदर्य बहुत ज्यादा है । आरती से पूर्व भजन संध्या का आयोजन किया जाता है। तत्पश्चायत धूप आरती पुरे वातावरण मैं माँ गंगा की भक्ति का रास बिखेर देती हैं। यहाँ यात्रियों के लिए अलग से पूजा की व्यवस्था भी हैं। धूप आरती के पश्चयात माँ गंगा की आरती प्रारम्भ होती है। आरती के बाद एक बार फिर भजनों की सूंदर प्रस्तुति श्रद्धालुओं को भक्ति के रास मे भिगो देती है। पूरा आयोजन श्री गंगा सभा, त्रिवेणी घाट ऋषिकेश के द्वारा आयोजित किया जाता है। एक बार अवश्य त्रिवेणी घाट आकर संगीतमय आरती का लाभ कमाए । जय माँ गंगे हर हर गंगे । इस भव्य ,अनोखे एवं अदभुत दृश्य को देखने के लिए यहाँ संध्या की मधुर बेला में पर्यटक भी दूर दूर से आते हैं